1 गेंद ने सबको कर दिया कन्फ्यूज, टीम इंडिया से लेकर अंपायर तक की हुई बत्ती गुल

भारत और जिम्बाब्वे के बीच इस समय तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली जा रही है. भारत ने पहला मैच जीतकर सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है.दूसरा मैच जिम्बाब्वे के लिए वापसी का मौका था. इस सीरीज में टीम इंडिया के कप्तान बनाए गए केएल राहुल ने दूसरे मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया. भारतीय गेंदबाजों ने कप्तान के फैसले को सही साबित किया और जिम्बाब्वे को बड़ा स्कोर नहीं करने दिया. जिम्बाब्वे की पारी के दौरान हालांकि मैदान पर एक दफा कन्प्यूजन की स्थिति दिखी.

जिम्बाब्वे की पारी का 18वां ओवर फेंका भारत के बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल ने. इस ओवर की पांचवीं गेंद पर पटेल ने जिम्बाब्वे के बल्लेबाज सिकंदर रजा के पैड पर गेंद मारी. इस पर टीम इंडिया ने अपील की और अंपायर ने आउट दे दिया. लेकिन रजा ने इस पर रिव्यू लिया जिसमें वह बच गए. लेकिन मामला सिर्फ इतना भर नहीं है.

शॉट को लेकर हुई कन्फ्यूजन

रजा ने पहले इस गेंद को खेलना चाहा लेकिन फिर छोड़ने का फैसला किया. मैदानी अंपायर ने उन्हें आउट दे दिया, लेकिन रजा ने जब तीसरे अंपायर की मदद मांगी तो इसमें इम्पैक्ट आउटसाइड ऑफ बताया गया. यहां टीम इंडिया के खिलाड़ी खुश नहीं थे क्योंकि उनके मुताबिक रजा ने जब शॉट ही नहीं खेला तो नियम के मुताबिक ऐसी स्थिति में गेंद का क्या इम्पैक्ट है ये मायने नहीं रखता. इसके बाद जब तीसरे अंपायर ने मैदानी अंपायरों से पूछा कि क्या रजा ने शॉट खेला था. इस पर मैदानी अंपायर ने हां में जवाब दिया. तीसरे अंपायर ने फिर सभी चीजें देखते हुए बताया कि शॉट नहीं खेला गया लेकिन गेंद विकेट पर नहीं लग रही थी ऐसे में रजा आउट नहीं हैं. इस समय रजा 11 रनों पर थे.

लगातार दूसरे मैच में हुए फेल

इस सीरीज से पहले जिम्बाब्वे की तरफ से किसी एक खिलाड़ी की चर्चा थी तो वो रजा ही थे. इस बल्लेबाज ने बांग्लादेश के खिलाफ शानदार बल्लेबाजी करते हुए टीम को जीत दिलाई थी. इस सीरीज में रजा के बल्ले से दो शतक निकले थे. ऐसे में उम्मीद की जा रही थी रजा भारत को भी परेशानी में डालेंगे. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. दोनों मैचों में रजा पूरी तरह से विफल रहे. दूसरे मैच में 18वें ओवर में तो वह बच गए लेकिन 21वें ओवर की आखिरी गेंद पर वह कुलदीप यादव का शिकार बन गए. वह सिर्फ 16 रन बना पाए. पहले वनडे में रजा के बल्ले से 12 रन ही निकले थे.

 

About the author

suuny

Leave a Comment