44444…. एक ओवर में 5 चौके, गायकवाड़ ने उतारा साउथ अफ्रीकी बिजली का बुखार

साउथ अफ्रीका के खिलाफ जारी घरेलू टी-20 सीरीज (IND vs SA) में भारतीय सलामी जोड़ी नहीं चल पा रही थी। ईशान किशन तो फिर भी रन बना रहे थे, लेकिन रुतुराज गायकवाड़ का बल्ला बुरी तरह खामोश था। फैंस उन्हें तीसरे मैच से बाहर करने की डिमांड करने लगे थे। गायकवाड़ को भी पता था कि अभी न हुआ तो फिर कभी नहीं-कभी नहीं। ऐसे दबाव भरे माहौल में महाराष्ट्र के इस दाएं हाथ के बल्लेबाज ने विशाखापट्टनम में कमाल कर दिया।

रुतुराज गायकवाड़ ने मारे एक ओवर में 5 चौके

पहले मैच में 23 और दूसरे मुकाबले में सिर्फ 1 रन बनाने वाले रुतुराज ने तीसरे मैच में दमदार फिफ्टी ठोकी। 35 गेंद में 57 रन बनाए। इस पारी की कई खासियतें थीं। मसलन यह गायकवाड़ ने टी-20 इंटरनेशनल करियर का पहला अर्धशतक था। वह तीसरी बार जताए गए भरोसे पर खरे उतरे और इन सब से ज्यादा जितनी भी देर खेले चढ़कर खेले।

नॉर्ट्जे को लगाए लगातार 5 चौके
गायकवाड़ ने आक्रामक शुरुआत करते हुए पांचवें ओवर में एनरिच नॉर्ट्जे को लगातार पांच चौके लगाए। पहली गेंद को ऑफ साइड में कट मारने के बाद दूसरी बॉल को कदमों का इस्तेमाल करते हुए मिड ऑन के ऊपर से चौके के लिए खेल दिया। दो लगातार चौके खाने के बाद नॉर्ट्जे ने तीखी बाउंसर फेंकी, जो सीधे गायकवाड़ के हेलमेट पर लगी। गेंद इतनी तेज थी कि थर्डमैन की ओऱ चौके के लिए चली गई। अगली गेंद पर कलाइयों को खूबसूरत उपयोग करते हुए गायकवाड़ ने चौका निकाला तो अगली गेंद के लिए भी पूरी तरह तैयार दिखे। पटकी हुई बॉल को हल्के हाथों से शॉर्ट थर्डमैन के ऊपर से सीमा रेखा के पार भेज दिया।

30 बॉल में ठोकी फिफ्टी

भारत ने पावरप्ले के छह ओवरों में बिना किसी नुकसान के 57 रन बनाए।गायकवाड़ ने अपना अर्धशतक 30 गेंदों में पूरा किया और केशव महाराज का स्वागत चौके से किया। महाराज ने अपनी ही गेंद पर उनका कैच लपककर उनकी पारी का अंत किया। किशन ने नौवें ओवर में तबरेज शम्सी को छक्का और चौका जड़कर 13 रन बनाए। किशन ने 35 गेंद में 54 रन की पारी खेली। पांच मैचों की श्रृंखला में उनका यह दूसरा अर्धशतक था। भारत ने आखिरी में साउथ अफ्रीका के सामने 180 रन का लक्ष्य रखा और फिर आसानी से जीतकर सीरीज में वापसी भी की।

About the author

suuny

Leave a Comment