भारत के खिलाफ जड़े लगातार 5 शतक, आउट होने का नहीं लेता था नाम, 108 सेंचुरी ठोककर किया अनोखा काम

पाकिस्तान ने क्रिकेट की दुनिया में कई शानदार गेंदबाज दिए. इस देश की गिनती तेज गेंदबाजों की खान के तौर पर होती है. वसीम अकरम, वकार युनूस, इमरान खान,मोहम्मद आमीर जैसे गेंदबाज इस देश से निकले हैं. लेकिन इस देश ने कई शानदार बल्लेबाज भी दिए हैं. उनमें से ही एक हैं जहीर अब्बास. अब्बास को एशिया का ब्रेडमैन कहा जाता था. उनकी कलात्मक बल्लेबाजी के चर्चे आज भी होते हैं. आज यानी 24 जुलाई को अब्बास का जन्मदिन है.

जहीर अब्बास उन बल्लेबाजों में से थे जो अगर विकेट पर पैर जमा ले तो आउट करना मुश्किल हो जाता था. यही कारण है कि उन्होंने शतक का सैकड़ा लगाया. उन्होंने ये काम फर्स्ट क्लास क्रिकेट में किया. फर्स्ट क्लास में जहीर अब्बास के नाम 108 शतक हैं. इसके अलावा उन्होंने 158 अर्धशतक भी बनाए हैं. वह एशिया के पहले बल्लेबाज हैं जिन्होंने फर्स्ट क्लास में 100 शतकों का आंकड़ा छुआ था.

भारत के खिलाफ किया अनोखा काम

जहीर अब्बास पहले बल्लेबाज थे जिन्होंने वनडे में लगातार तीन शतक और पांच इंटरनेशनल पारियों में लगातार पांच शतक जमाए हो. ये काम उन्होंने भारत के खिलाफ 1982 में किया था. भारतीय टीम उस समय पाकिस्तान के दौरे पर थी और टेस्ट के साथ वनडे सीरीज भी खेली थी. जहीर ने लाहौर टेस्ट में 215 रन, दूसरे वनडे में 118 रन, दूसरे टेस्ट मैच में 186 रन, तीसरे वनडे में 105 रन, तीसरे टेस्ट मैच में 168 रन, चौथे वनडे में 113 रन बनाए थे. इस दौरे पर टेस्ट और वनडे अल्टरनेट खेले गए थे.

फर्स्ट क्लास में किया एक और कमाल

जहीर अब्बास इकलौते ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने फर्स्ट क्लास मैच में शतक और दोहरा शतक बनाया हो. वह आठों बार नाबाद रहे. उन्होंने ये काम इंग्लिश काउंटी ग्लूस्टरशर के लिए खेलते हुए किया था. जहीर 2015 में आईसीसी के अध्यक्ष भी रहे.उनका करियर देखा जाए तो उन्होंने 78 टेस्ट मैचों में 5062 रन बनाए और इस दौरान उनका औसत 44.79 रहा. टेस्ट में उनके नाम 12 शतक और 20 अर्धशतक लगाए. वहीं वनडे की बात की जाए तो उन्होंने पाकिस्तान के लिए 62 वनडे मैच खेले और 47.62 की औसत से 2572 रन बनाए. वनडे में उन्होंने सात शतक और 13 अर्धशतक लगाए.

About the author

suuny

Leave a Comment