61 हज़ार रन, 199 शतक और 501 की पारी, कभी नहीं टूट पायेंगे क्रिकेट इतिहास के ये 10 रिकॉर्ड!

10 Big Records in Cricket History: क्रिकेट के खेल में आए दिन कोई ना कोई बड़ा रिकॉर्ड बनता है. कभी बल्लेबाज तो कभी गेंदबाज बड़े-बड़े रिकॉर्ड्स को अपने नाम कर ही लेते हैं. जबकि क्रिकेट के खेल में कुछ रिकॉर्ड्स ऐसे हैं जिन्हें तोड़ पाना नामुमकिन है. इस रिपोर्ट में हम आपको ऐसे ही 10 रिकॉर्ड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें तोड़ पाना बहुत मुश्किल है.

एक वनडे मैच में 8 विकेट
दिग्गज श्रीलंकाई तेज गेंदबाज चामिंडा वास के नाम एक बड़ा रिकॉर्ड है. उन्होंने 2001 में वनडे मैच में 19 रन देकर 8 विकेट हासिल किए थे. 21 सालों के बाद भी आजतक ये रिकॉर्ड कोई खिलाड़ी नहीं तोड़ पाया है.

 

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 61760 रन
पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर सर जैक होब्स के नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट में कुल 61760 रन हैं. वो ये कारनामा करने वाले इकलौते बल्लेबाज हैं. फर्स्ट क्लास में इतने रनों के आस-पास भी आजतक कोई बल्लेबाज नहीं पहुंचा है. यहां तक कि विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर और रिकी पोंटिंग जैसे बल्लेबाज टॉप 10 में भी नहीं है.

 

199 शतक का वर्ल्ड रिकॉर्ड
घरेलू क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक बनाने का रिकॉर्ड भी जैक होब्स के नाम है. जैक ने अपने करियर में 199 शतक लगाए. उनके इस रिकॉर्ड को तोड़ पाना तो दूर की बात आज तक कोई आस पास भी नहीं पहुंच पाया.

 

100 मील की रफ्तार से गेंद
पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर की गिनती दुनिया के सबसे तेज गेंदबाज के रूप में रही है. शोएब ने 2003 में इग्लैंड के खिलाफ 100 मील की रफ्तार से गेंदबाजी की थी. उनका यह रिकॉर्ड आजतक नही टूटा है.

 

रोहित शर्मा की 264 रनों की पारी
टीम इंडिया के हिटमैन ओपनर और कप्तान रोहित शर्मा के नाम वनडे मैच की एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है. रोहित शर्मा ने 2014 में श्रीलंका के खिलाफ 264 रन ठोक दिए थे. यह रिकॉर्ड ऐसा है जिसे शायद आने वाले समय में रोहित खुद भी ना तोड़ पाएं.

 

एक पारी में 12 छक्के
टेस्ट क्रिकेट में आमतौर पर छक्के कम ही लगते हैं. टेस्ट की एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के लगाने का रिकॉर्ड पाकिस्तान के वसीम अकरम के नाम है. उन्होने 1994 में जिम्बाब्वे के खिलाफ आठवे क्रम पर बल्लेबाज करते हुए 257* रन की पारी खेली थी. इसमें उन्होने 12 छक्के लगाए थे. यह रिकॉर्ड आज तक नहीं टूटा है.

 

नाइट वॉचमैन ने ठोकी डबल सेंचुरी
टेस्ट क्रिकेट में अक्सर नाइट वॉचमैन तब बल्लेबाजी करने आता है जब टीम दिन के खत्म होने पर कोई टीम अपने मुख्य बल्लेबाज का विकेट बचाना चाह रही हो. लेकिन अगर हम आपको बताएं कि एक नाइट वॉचमैन डबल सेंचुरी भी लगा चुका है. जी हां, 2006 में चटगांव में खेला गए एक टेस्ट मैच में ऑस्‍ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जेसन गिलेस्‍पी ने नाइट वॉचमैन के तौर पर उतरने के बाद नाबाद 201 रन की पारी खेली थी.

 

ब्रैडमैन का 99 रनों का औसत
ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन के नाम क्रिकेट का एक रिकॉर्ड है जो शायद कभी ना टूटे. टेस्ट क्रिकेट में ब्रैडमैन का औसत 99.94 का है. खुद विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर जैसे बल्लेबाज भी ब्रैडमैन के आस-पास भी नहीं है.

501 रन की पारी

वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज ब्रायन लारा के नाम प्रथम श्रेणी में सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड है. उन्होने 6 जून 1994 को वॉरविकशायर के लिए डरहम के खिलाफ 501 रन की ऐतिहासिक पारी खेली थी.
401* की महान पारी
ब्रायन लारा के नाम सिर्फ प्रथम श्रेणी ही बल्कि इंटरनेशनल क्रिकेट में भी सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड है. उन्होने 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में 401 रन की ऐतिहास पारी खेली थी.

About the author

suuny

Leave a Comment