10 रन बनाने से पहले 8 बल्लेबाज ढेर, 132 रन से मुकाबला हारी टीम, T20I मैच में ‘भारतीय इंजीनियर’ ने बनाया गजब सीन!

20 ओवर का मैच और हार का अंतर 132 रन. इससे दो टीमों के बीच प्रदर्शन का फर्क समझा जा सकता है. ये मुकाबला T20 वर्ल्ड कप के क्वालिफायर में अमेरिका और सिंगापुर के बीच खेला गया. इस मैच में अमेरिका ने 132 रन से बड़ी जीत दर्ज की. उसने पहले खेलते हुए स्कोर बोर्ड पर 20 ओवरों में इतने रन टांग दिए की सिंगापुर की टीम उसके दबाव में दब कर रह गई. और कोशिश भी की तो अमेरिका की तरफ से खेल रहे भारत के इंजीनियरिंग ग्रेजुएट खिलाड़ी सौरभ नेत्रावल्कर (Saurabh Netravalkar) ने ऐसा होने नहीं दिया. सिंगापुर की आधी टीम को उन्होंने अकेले ही समेटा.

अमेरिका के पहाड़ जैसे स्कोर के आगे सिंगापुर की बल्लेबाजी धराशायी सी दिखी. टीम के 8 बल्लेबाजों के लिए तो 10 रन बनाना भी मुश्किल हो गया. मतलब कि उनसे 10 रन भी नहीं बने. दो ने खाता नहीं खोला जबकि बाकियों के लिए दहाई के आंकड़े को छूना दुभर हो गया. सिंगापुर के केवल 3 बल्लेबाजों ने दहाई के आंकड़े को छुआ, जिनमें सबसे ज्यादा स्कोर 21 रन का रहा.

सौरभ नेत्रावल्कर ने T20I में दिया बेस्ट

सिंगापुर की पूरी टीम सिर्फ 69 रन बनाकर 15.2 ओवरों में ढेर हो गई. उनकी इस बदहाली के जिम्मेदार सबसे बड़े भारतीय इंजीनियर सौरभ नेत्रावल्कर रहे, जिन्होंने अकेले ही 12 रन देकर 5 बल्लेबाजों को आउट किया. भारत के लिए अंडर 19 क्रिकेट और घरेलू क्रिकेट खेल चुके सौरभ नेत्रावल्कर का ये इंटरनेशनल T20 में किया बेस्ट प्रदर्शन है. T20I में पहली बार उन्होंने 5 विकेट चटकाए हैं.

अमेरिका ने दिया था 202 रन का टारगेट, 132 रन से हारा सिंगापुर

अब अगर सिंगापुर 132 रन से T20I मुकाबला हारी तो सवाल है कि अमेरिका ने बल्लेबाजी करते हुए कितने रन ठोके. तो अमेरिका ने 20 ओवर में ने 6 विकेट पर 201 रन बनाए, जिसमें जसकरण मल्होत्रा और स्टीवन टेलर के 58-58 रनों का बड़ा रोल रहा.

About the author

suuny

Leave a Comment