धोनी का 17 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा,कपिल देव के बाद ऐसा कारनामा करने वाले बनें दूसरे बल्लेबाज

वेस्टइंडीज और भारत के बीच खेला गया दूसरा वनडे मैच भी रोमांच से भरा रहा. खेल एक बार फिर आखिरी ओवर तक गया और अंत में टीम इंडिया को जीत मिली. भारत ने इसी के साथ 2-0 से सीरीज पर भी कब्जा कर लिया. लेकिन टीम की इस जीत का सबसे ज्यादा श्रेय अगर किसी खिलाड़ी को जाता है तो वो हैं अक्षर पटेल, जिन्होंने ऐसी ताबड़तोड़ पारी खेली जिसकी बदौलत टीम इंडिया को जीत मिली. प्यार से ‘बापू’ कहे जाने वाले अक्षर पटेल ने 35 गेंदों में 64 रन ठोक डाले और इसी के साथ उन्होंने टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का 17 साल पुराना रिकॉर्ड भी तोड़ दिया. जिस वक्त अक्षर क्रीज पर थे तब टीम इंडिया 38 ओवर में 205 रन के स्कोर पर अपने 5 विकेट गंवा चुकी थी. लेकिन अक्षर पटेल की शानदार बल्लेबाजी ने नामुमकिन को मुमकिन में बदल दिया. उन्होंने काइल मेयर्स की गेंद पर आखिरी ओवर में बड़ा छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई.

अक्षर ने बनाए रिकॉर्ड्स
7वें नबर पर बल्लेबाजी करने आए अक्षर पटेल ने धोनी का वो रिकॉर्ड तोड़ा जो धोनी ने 2005 में जिम्बॉब्वे के खिलाफ बनाया था. धोनी के नाम लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम के लिए 7वें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा तीन छक्के लगाने का रिकॉर्ड था. जिसे अक्षर ने पांच छक्के लगाकर तोड़ दिया. अक्षर पटेल से पहले धोनी के इस अटूट जैसे दिखने वाले रिकॉर्ड की युसूफ पठान दो बार (2011 में) बराबरी कर चुके थे. लेकिन रिकॉर्ड तोड़ नहीं पाए थे. लेकिन अक्षर के पांच छक्कों ने ये रिकॉर्ड तोड़ दिया है.

इसके अलावा अक्षर ने एक और बड़ा मुकाम हासिल कर लिया. उन्होंने 27 गेंदों में अपने 50 रन पूरे किए, जो कि वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम इंडिया के किसी बल्लेबाज की दूसरी फास्टेस्ट फिफ्टी है. वेस्ट इंडीज के खिलाफ सबसे तेज अर्धशतक जड़ने का रिकॉर्ड कपिल देव के नाम है, जिन्होंने 1983 में 22 गेंदों में ये कारनामा किया था. अक्षर पटेल की ये शानदार पारी क्रिकेट के इतिहास में खेली गई सबसे शानदार पारियों में शुमार हो गई है और लोग सोशल मीडिया पर उन्हें ढेरों बधाई दे रहे हैं. ट्विटर पर बहुत से लोगों ने कहा है कि बापू ने कमाल कर दिया है. टीम इंडिया के फैंस लंबे समय तक इसे याद रखेंगे.

About the author

suuny

Leave a Comment