50 हजार रन और 167 शतक, 563 के औसत का रिकॉर्ड भी तोड़े इंग्लैंड के दिग्गज कप्तान

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान वाली हेमंड (Wally Hammond) का आज जन्मदिन है. उन्होंने क्रिकेट के मैदान पर कई बड़े मुकाम हासिल किए. उनकी तुलना महान डॉन ब्रेडमैन से भी की जाती थी. 19 जून 1903 को केंट में जन्मे हेमंड ने इंग्लैंड की ओर से 85 टेस्ट खेले. उन्होंने 20 मैच में टीम की कप्तानी भी की. उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 50 हजार से अधिक रन बनाए. वे सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में अभी भी 7वें नंबर पर काबिज है. इतना ही नहीं बतौर तेज गेंदबाज उन्होंने 700 से अधिक विकेट भी झटके. इस दौरान उन्हाेंने 167 शतक ठोके. इस मामले में वे ओवरऑल तीसरे नंबर पर काबिज हैं.

वाली हेमंड के पिता सेना में थे. जब वे 5 साल के थे, तब उनके पिता हॉन्ग कॉन्ग में तैनात थे. 11 साल की उम्र में वह परिवार के साथ माल्टा में थे. यहां वह सैनिकों के बच्चों के साथ क्रिकेट खेला करते थे. वे 1914 में फिर से इंग्लैंड पहुंचे. स्कूल के दौरान उन्होंने इंटर हाउस के मैच में 365 रन की पारी खेलकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया. 24 दिसंबर 1927 को उन्होंने इंग्लैंड के लिए डेब्यू किया. साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले ही मैच में अर्धशतक लगाया और 5 विकेट भी झटके. टीम ने यह मुकाबला 10 विकेट से जीता था.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया शानदार प्रदर्शन

वाली हेमंड ने अच्छी शुरुआत के बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा. 1928-29 में ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने शानदार बल्लेबाज की. हेमंड ने इस सीरीज में 251, 200, 32, 119* और 177 रन बनाए. इसके बाद 1932-33 के न्यूजीलैंड दौरे पर उन्हें 2 टेस्ट की 2 पारियों में बल्लेबाजी करने का मौका मिला. इस दौरान उन्होंने 227 और नाबाद 336 नाबाद बनाए. इस सीरीज में उनकी औसत 563 का रहा, जो आज भी एक सीरीज का रिकॉर्ड है.

7 दोहरे जड़े टेस्ट में, सिर्फ 3 बल्लेबाज आगे

वाली हेमंड ने टेस्ट क्रिकेट में 7 दोहरे शतक लगाए हैं. वे इस मामले में सिर्फ डॉन ब्रेडमैन (12), कुमार संगकारा (11) और वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा (7) से पीछे हैं. उन्होंने टेस्ट में 5 बार लगातार शतक जड़े. वे टेस्ट के बेस्ट फील्डर भी रहे. टेस्ट में उन्होंने 110 जबकि फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 820 कैच पकड़े. उन्होंने 85 टेस्ट में 58 की औसत से 7249 रन बनाए. 22 शतक और 24 अर्धशतक लगाया. नाबाद 336 रन की सबसे बड़ी पारी खेली. वे 16 बार नाबाद भी लौटे. इसके अलावा 83 विकेट भी लिए. 35 रन देकर 5 विकेट उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा.

फर्स्ट क्लास क्रिकेट को देखें, तो उन्होंने 634 मैच में 56 की औसत से 50551 रन बनाए. 167 शतक और 185 अर्धशतक लगाए. इस दौरान उन्होंने 31 की औसत से 732 विकेट भी अपने नाम किए. 23 रन देकर 9 विकेट उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा. यानी वे 10 विकेट का कारनामा करने से चूक गए. 22 बार 5 और 3 बार 10 विकेट लेने का कारनामा किया.

About the author

suuny

Leave a Comment