टेस्ट में हुआ फ्लॉप, वनडे में हुआ फ्लॉप, लेकिन टी-20 में मचा दी तबाही, जड़ दिए 3-3 शतक, अब जी रहा गुमनामी की जिंदगी

दुनिया में बहुत कम ऐसे क्रिकेटर मौजूद है जो क्रिकेट के सभी प्रारूप में लगातार अच्छी बल्लेबाजी कर पाते हैं। क्योंकि तीनो फॉर्मेट में लगातार रन बनाना आसान काम नहीं है, लेकिन टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा पूर्व और कप्तान विराट कोहली जैसे बल्लेबाजों के लिए कोई मुश्किल काम भी नहीं है।

विराट कोहली और रोहित शर्मा भारत के लिए तीनो फॉर्मेट का मैच खेलते हैं, जिसमे उनका प्रदर्शन हमेशा बढ़िया रहा है। इन दोनों के अलावे न्यूजीलैंड के केन विलियमसन और ऑस्टेलिया के डेविड वॉर्नर भी तीनो फॉर्मेट खेलते नजर आते है। आज की इस लेख में हम दुनिया एक ऐसे बल्लेबाज के बारे में बात करने जा रहे हैं जो टेस्ट और वनडे क्रिकेट में बुरी तरह से फ्लॉप हुए, लेकिन टी-20 क्रिकेट में उन्होंने तबाही मचा दी। उसके बावजूद भी आज उन्हें गुमनामी की जिंदगी जीना पड़ रहा है।

टेस्ट और वनडे में फ्लॉप हुआ ये बल्लेबाज

आपने दुनिया में ऐसे बहुत सारे खिलाड़ियों को देखा होगा, जो टेस्ट और वनडे क्रिकेट में अच्छी प्रदर्शन करने में नाकाम रहे। इस वजह से उनकी खूब आलोचना हुई, जिस वजह से उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। ऐसा ही हाल न्यूजीलैंड के तूफानी ओपनर बल्लेबाज कॉलिन मुनरो के साथ हुआ, क्योंकि वो भी टेस्ट और ओडीआई क्रिकेट में फ्लॉप साबित हुए थे।

कॉलिन मुनरो को न्यूजीलैंड के लिए सिर्फ एक टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला, जिसमे वो सिर्फ 15 रन बना पाए। उसके बाद 57 ओडीआई मैचों में मुनरो 24.92 की खराब औसत के साथ सिर्फ 1271 रन बना पाए। उस दौरान उनके बल्ले से 8 अर्धशतक देखने को मिला था। वनडे क्रिकेट में कॉलिन मुनरो का उच्चतम स्कोर मात्र 87 रन रहा।

फिर टी-20 में मचाया तबाही

कॉलिन मुनरो भले ही टेस्ट और वनडे क्रिकेट में बुरी तरह फ्लॉप साबित हुए, लेकिन टी-20 इंटरनेशनल क्रिकेट में उन्होंने तबाही मचा दी। मुनरो न्यूजीलैंड के लिए 65 टी-20 मैचों की 62 पारियों के दौरान बल्लेबाजी की है, जिसमे उन्होंने 31.35 की अच्छी औसत और 156.44 की जबरदस्त स्ट्राइक रेट के साथ कुल 1724 रन बनाए हैं। उस कॉलिन मुनरो के बल्ले से 3 शतक और 11 अर्धशतक देखने को मिला।

अब जी रहा गुमनामी की जिंदगी

कॉलिन मुनरो 65 टी-20 मैचों में 132 चौके तथा 107 गगनचुंबी छक्के लागए हैं। न्यूजीलैंड के लिए मुनरो ने अंतिम टी-20 मैच फरवरी 2020 में भारत के विरुद्ध खेला था, लेकिन उसके बाद से उन्हें मौका मिलना बंद हो गया। इस वजह से कॉलिन मुनरो अब गुमनामी की जिंदगी जी रहे हैं। मुनरो की इस हालत के जिम्मेदार न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के चयनकर्ता है, क्योंकि उन्होंने उसे मौका देना बंद कर दिया।

About the author

suuny

Leave a Comment