1959 के बाद पहली बार! हार्दिक पांड्या के कप्तान बनते ही दोहराया जाएगा 63 साल पुराना इतिहास

भारतीय टीम में कभी खिलाड़ियों की कमी नहीं रही है। यहां तक कि मौजूदा समय में दो टीमें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के लिए तैयार हैं। इतना ही नहीं, बेंच पर भी ऐसे खिलाड़ी बैठे हैं, जो प्लेइंग इलेवन में खेलने का दम रखते हैं। इसके अलावा कई धाकड़ खिलाड़ी सलेक्शन का इंतजार कर रहे हैं

लेकिन हम यहां खिलाड़ियों की नहीं, बल्कि कप्तानों की बात करने जा रहे हैं और जनवरी 2022 से जून 2022 तक हम भारत के लिए 5 कप्तानों को कप्तानी करते देखेंगे दरअसल, साल 1959 के बाद ऐसा पहली बार होगा जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय टीम के लिए एक कैलेंडर ईयर में पांच कप्तान टीम की अगुवाई करते नजर आएंगे।

जनवरी 2022 से अब तक चार कप्तान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भारतीय टीम का नेतृत्व कर चुके हैं और जून के ही आखिर में हमें पांचवां कप्तान कप्तानी करते हुए दिखेगा। इसका ऐलान खुद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीसीआई ने बुधवार की शाम को किया था।

आपकी जानकारी के लिए बता दें, साल 1959 में भारत के लिए हेमू अधिकारी, दत्ता गायकवाड़, वीनू मांकड, गुलाबराय रामचंद और पंकज रॉय ने कप्तानी की थी। ये खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी करने उतरे थे। उस समय सिर्फ टेस्ट क्रिकेट का ही चलन था, लेकिन 2022 में इंटरनेशनल क्रिकेट में तीन फॉर्मेट हैं

इन्हीं तीनों फॉर्मेट में हमें इस साल अब तक चार कप्तान देखने को मिल चुके हैं, जबकि पांचवां कप्तान इसी महीने जिम्मेदारी संभालेगा दरअसल, जनवरी 2022 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच में विराट कोहली कप्तान थे, जबकि जनवरी में ही केएल राहुल ने मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट और वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में कप्तानी की थी।

वहीं रोहित शर्मा ने वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ कप्तानी की, जबकि ऋषभ पंत टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारत के कप्तान हैं और अब 26 और 28 जून को हार्दिक पांड्या टीम के इस साल पांचवें कप्तान होंगे।

About the author

suuny

Leave a Comment