5 मैच में ठोके 460 रन, 2.7 की इकॉनोमी से झटके 15 विकेट, फिर भी नहीं मिला टीम इंडिया का टिकट

मध्य प्रदेश ने रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल (Ranji Trophy Semi-Final) के तीसरे दिन बंगाल को 273 रन पर आउट किया. इसके बाद दूसरी पारी में दो विकेट पर 163 रन बनाकर अपनी कुल बढ़त को 231 रन तक पहुंचाया. शाहबाज ने करियर का पहला शतक जड़ते हुए 209 गेंद में 12 चौकों की बदौलत 116 रन बनाए.

शाहबाज को आरसीबी कैंप में विराट कोहली के साथ समय बिताकर काफी फायदा हुआ. वहीं बंगाल के खेल मंत्री मनोज तिवारी ने 211 गेंद में 12 चौकों की मदद से 102 रन की पारी खेली. दोनों ने उस समय छठे विकेट के लिए 183 रन की साझेदारी की जबकि टीम 54 रन पर पांच विकेट गंवाने के बाद संकट में थी. शाहबाज और तिवारी के अलावा कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन (22) ही दोहरे अंक में पहुंच पाए.

सेमीफाइनल में मध्य प्रदेश ने कसा शिकंजा
मध्य प्रदेश की ओर से पुनीत दातेय ने 48, कुमार कार्तिकेय ने 61 और सारांश जैन ने 63 रन देकर तीन-तीन विकेट चटकाए. पहली पारी में 341 रन बनाने वाले मध्य प्रदेश ने पहली पारी के आधार पर 68 रन की बढ़त हासिल की.

मध्य प्रदेश ने दिन का खेल खत्म होने तक दूसरी पारी में रजत पाटीदार (नाबाद 63) के नाबाद अर्धशतक की बदौलत दो विकेट पर 163 रन बनाए. कप्तान आदित्य श्रीवास्तव 34 रन बनाकर स्टंप के समय उनका साथ निभा रहे थे. शुभम शर्मा 22 रन बनाने के बाद रिटायर्ड हर्ट होकर वापस लौटे.

शाहबाज अहमद ने रणजी में मचाया गदर
शाहबाज ने रणजी ट्रॉफी में 5 मैचों में 460 रन बनाये हैं. वहीं शाहबाज ने रणजी के इस सीजन में गेंद से भी कमाल का प्रदर्शन करते हुए .7 की इकॉनोमी से 15 विकेट अर्जित किये हैं. हालाँकि इसके बावजूद आयरलैंड के विरुद्ध शाहबाज को टीम में जगह नहीं मिली है.

About the author

suuny

Leave a Comment