पहली बार 48 घंटे में ठोका दो शतक, मिला बड़ा तोहफा, अचानक बना ODI का कप्तान, पांड्या-यादव को किया नजरअंदाज

भारतीय क्रिकेट टीम की नजर फ़िलहाल टी-20 वर्ल्ड कप पर है जो इस वर्ष ऑस्ट्रेलिया की धरती पर खेला जाएगा। उस विश्व कप से पहले टीम इंडिया अपनी तैयारी में जुटी हुई है। इन दिनों कई अनुभवी खलाड़ी भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं, क्योंकि वो पिछले कुछ समय से अच्छी बल्लेबाजी और गेंदबाजी नहीं कर पा रहे थे।

जो खिलाड़ी लंबे समय से अच्छी प्रदर्शन करने में नाकाम थे, उनमे से कुछ क्रिकेटर महाराजा टी-20 ट्रॉफी लीग खेल रहे हैं तो कुछ इंग्लैंड में चल रहे रॉयल लंदन वनडे कप का हिस्सा है, जिसमे उनका प्रदर्शन बहुत शानदार देखने को मिला है। आज हम एक ऐसे खिलाड़ी के बारे में बात करने जा रहे हैं जिन्होंने अपने बल्ले से धमाल मचाया है, इस वजह से उन्हें कप्तान भी नियुक्त किया गया है।

इस खिलाड़ी ने ठोका लगातार दो शतक

भारतीय टेस्ट टीम के अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा इन दिनों इंग्लैंड में है, जहां पर वो रॉयल लंदन वनडे कप 2022 खेल रहे हैं। उस टूर्नामेंट में पुजारा ससेक्स (Sussex) टीम के लिए खेल रहे हैं। उन्होंने पिछले दो मैचों में 48 घंटों के अंदर लगातार दो शतक लगाया है। इस वजह से इन दिनों पुजारा की खूब चर्चा हो रही है।

चेतेश्वर पुजारा ने पहले वरिकशायर के खिलाफ 79 गेंदों पर सात चौके और दो गगनचुंबी छक्के की मदद से 107 रनों की पारी खेली थी। उसके बाद उन्होंने सरे के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में 131 गेंदों का सामना करते हुए 20 चौके और पांच गगनचुंबी छक्के की मदद से 174 रनों की जबरदस्त पारी खेली है।

चेतेश्वर पुजारा वनडे टीम का कप्तान

चेतेश्वर पुजारा के पास इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने का बहुत अनुभव है, क्योंकि उन्होंने खासकर टेस्ट क्रिकेट में अपना जलवा खूब दिखाया है। इस वजह से रॉयल लंदन वनडे कप 2022 के लिए ससेक्स ने चेतेश्वर पुजारा को अपनी ओडीआई टीम का कप्तान बनाया है। इस वजह से पुजारा के समर्थक इन दिनों बहुत खुश है, क्योंकि इंग्लैंड में उनका बल्ला जमकर चल रहा है।

पांड्या और यादव को किया नजरअंदाज

इस साल रॉयल लंदन वनडे कप में चेतेश्वर पुजारा के अलावे उमेश यादव और क्रुणाल पंड्या भी खेल रहे हैं। उमेश यादव मिडिलसेक्स (Middlesex) और क्रुणाल पांड्या वरिकशायर (Warwickshire) के लिए खेल रहे हैं। उमेश यादव फ़िलहाल इस टूर्नामेंट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज है। इसके अलावा क्रुणाल पांड्या ने भी गेंद और बल्ले दोनों से कमाल किया है, लेकिन फिर भी उनकी टीम ने उन्हें कप्तान नहीं बनाया।

About the author

suuny

Leave a Comment