सिर पर मारी बॉल तो बल्लेबाज की हो गई थी मौत, अब हर 5 गेंद पर किया 1 शिकार

क्रिकेट जितना रोमांचक और मजेदार खेल है. कभी-कभी ये उतना ही घातक और जानलेवा बन जाता है. इसके उदाहरण क्रिकेट फील्ड पर कई बार दिखे हैं. लेकिन 2014 की वो तस्वीर जब याद आती है तो आज भी रोंगटे खड़े हो जाते हैं. वो दर्दनाक घटना ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिल ह्यूज की मौत से जुड़ी है. ऑस्ट्रेलिया में घरेलू क्रिकेट के एक मैच में फिल ह्यूज एबॉट की रफ्तार का सामना कर रहे थे. उसी दौरान एक गेंद उनके हेलमेट के पिछले हिस्से पर जाकर लगती है और ह्यूज वहीं पर गिर पड़ते हैं. एबॉट को काफी वक्त लगे उस घटना से उबरकर क्रिकेट में रमने और अपने प्रदर्शन को निखारने में.

अब क्रिकेट फील्ड पर एबॉट की गेंदों ने एक बार फिर से आग उगलनी शुरू कर दी है. और, इसका सबसे ताजा प्रमाण इंग्लैंड में खेले जा रहे 100 गेंदों वाले टूर्नामेंट द हण्ड्रेड में देखने को मिला. मैनचेस्टर ऑरिजिन्लस की ओर से खेलते हुए वेल्स फायर के खिलाफ एबॉट ने औसतन हर 5 गेंद पर एक बल्लेबाज का विकेट उड़ाने का कमाल कर दिया.

15 गेंद, 13 डॉट, 8 रन और 3 विकेट

एबॉट ने वेल्स फायर के खिलाफ 15 गेंदें फेंकी, जिनमें 13 गेंदों पर उन्होंने कोई रन नहीं दिए. जबकि इस दौरान 8 रन देकर 3 विकेट हासिल किए. अब अगर 15 गेंदों में 3 विकेट का औसत निकाले तो रिजल्ट हर 5 गेंद पर 1 विकेट का होता है. एबॉट को इस दमदार प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया.

मैनचेस्टर ऑरिजिन्ल्स ने 47 रन से जीता मैच

ये तो आपने जाना उस गेंदबाज का कमाल जो बना मैच का हीरो. अब जरा मुकाबले में और क्या-क्या हुआ वो जान लीजिए. मैनचेस्टर ऑरिजिन्ल्स ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी की और 100 गेंदों पर 9 विकेट पर 149 रन बनाए. मैनचेस्टर ऑरिजिन्ल्स की ओर से बल्ले से सबसे ज्यादा 38 रन विकेटकीपर बल्लेबाज फिल साल्ट ने बनाए.

अब जब 150 के टारगेट का पीछा करने वेल्स फायर की टीम उतरी तो उसके खेल का अंत 100 गेंद पूरे होने के पहले ही हो गया. वेल्स फायर ने 100 गेंदों में से 11 गेंदें कम ही खेलीं. सिर्फ 89 गेंदों पर ही 102 रन बनाकर वो टीम ऑल आउट हो गई. नतीजा ये हुआ कि वेल्स फायर को 47 रन से हार का सामना करना पड़ा.

About the author

suuny

Leave a Comment