IND VS ENG: ऋषभ पंत ने 203 रन ठोक तोड़ा 69 साल पुराना रिकॉर्ड, भारतीय टीम को पहली बार मिला ऐसा खिलाड़ी!

एजबेस्टन टेस्ट में टीम इंडिया जीत की ओर बढ़ती दिख रही है और इसकी सबसे बड़ी वजह ऋषभ पंत (Rishabh Pant) हैं. पंत ने पहली पारी में शतक और दूसरी पारी में अर्धशतक ठोक टीम इंडिया को मजबूत स्थिति में पहुंचाया है. पहली पारी में 146 रन ठोकने वाले इस बल्लेबाज ने दूसरी पारी में 57 रनों की पारी खेली और इसके साथ ही उनका नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज हो गया. बता दें पंत ने एजबेस्टन टेस्ट की दोनों पारियों में मिलाकर 203 रन बनाए और वो पहले भारतीय विकेटकीपर-बल्लेबाज हैं जिसने विदेशी धरती पर 200 से ज्यादा रन बनाए हैं.

विदेशी में एक टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय विकेटकीपर

  • 203 रन- ऋषभ पंत बनाम इंग्लैंड, 2022
  • 161 रन- विजय मांजरेकर बनाम वेस्टइंडीज, 1953
  • 159 रन- ऋषभ पंत बनाम ऑस्ट्रेलिया, 2019
  • 151 रन- एमएस धोनी बनाम इंग्लैंड, 2011

विदेशी टेस्ट में शतक-अर्धशतक लगाने वाले पहले विकेटकीपर

बता दें ऋषभ पंत भारतीय टेस्ट क्रिकेट इतिहास के पहले विकेटकीपर हैं जिसने विदेशी धरती पर एक ही टेस्ट में शतक और अर्धशतक लगाया है.

  • फारुख इंजीनियर ने 1973 में इंग्लैंड के खिलाफ ब्रेबॉर्न टेस्ट में शतक लगाया था. उन्होंने 121 और 66 रनों की पारी खेली थी.
  • ऋषभ पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन में 146 और 57 रन की पारी खेल इतिहास रचा.

विदेशी विकेटकीपर की ओर से इंग्लैंड में खेले एक टेस्ट में सबसे ज्यादा रन

  • 203 ऋषभ पंत (एजबेस्टन, 2022) 146 और 57
  • 182 क्वलाइड वॉलकॉट (लॉर्ड्स, 1950) 14, 168 नाबाद

रोहित शर्मा को नहीं पछाड़ पाए ऋषभ पंत

बता दें ऋषभ पंत इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 349 बनाने में कामयाब रहे. हालांकि वो कप्तान रोहित शर्मा को नहीं पछाड़ पाए जिन्होंने इस सीरीज में 368 रन ठोके. तीसरे नंबर पर विराट कोहली रहे जिनके बल्ले से 315 रन निकले. चेतेश्वर पुजारा ने 306 और जडेजा ने 287 रन बनाए.

एजबेस्टन में टीम इंडिया का बड़ा स्कोर

विकेटकीपर ऋषभ पंत की बेहतरीन पारी की वजह से टीम इंडिया एजबेस्टन टेस्ट में मजबूत स्थिति में पहुंच पाई. भारत ने इंग्लैंड की टीम को 378 रनों का विशाल लक्ष्य दिया है. एजबेस्टन की पिच पर इतना बड़ा स्कोर कभी चेज नहीं हो सका है. इंग्लैंड ने भी इस मैदान पर सबसे ज्यादा लक्ष्य 208 रन चेज किया है. साफ है एजबेस्टन में इतना बड़ा स्कोर हासिल करना आसान नहीं होगा. हालांकि भारतीय गेंदबाजों को फिर भी चौथी पारी में अच्छी गेंदबाजी करनी होगी क्योंकि इंग्लिश कप्तान और बल्लेबाज बेहतरीन फॉर्म में हैं.

 

About the author

suuny

Leave a Comment