10000+ अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाली बैटर का खुलासा ,क्रिकेट में वापसी कर सकती हैं मिताली राज

भारतीय महिला टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज ने फिर से क्रिकेट में वापसी के संकेत दिए हैं। मिताली राज ने 8 जून 2022 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था। मिताली राज वुमन्स आईपीएल (महिला आईपीएल) के उद्घाटन सत्र में खेलती दिख सकती हैं। महिला आईपीएल का पहला सीजन 2023 में शुरू होने की उम्मीद है। मिताली राज के मुताबिक, उन्होंने महिला आईपीएल के पहले संस्करण में खेलने के लिए अपने सभी विकल्प खुले रखे हैं।

मिताली राज ने यह खुलासा इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) की ओर से 100 पर्सेंट क्रिकेट पॉडकास्ट के पहले एपिसोड पर इंग्लैंड की पूर्व स्टार ईशा गुहा और न्यूजीलैंड की ऑफ स्पिनर फ्रेंकी मैके के साथ बातचीत में किया। अपने 22 साल के करियर में 10 हजार से अधिक अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाली मिताली राज महिला आईपीएल के पहले टूर्नामेंट में खेलने के लिए तैयार हैं।

उन्होंने कहा, ‘मैंने विकल्प खुला रखा है। मैंने अब तक फैसला नहीं किया है। महिला आईपीएल के आयोजन से पहले अभी काफी समय है। मैं महिला आईपीएल के पहले सत्र का हिस्सा बनना पसंद करूंगी।’

मिताली राज ने पॉडकास्ट पर खुलासा किया कि उनका जीवन वास्तव में उतना धीमा नहीं हुई, जितना उन्होंने संन्यास के बाद की उम्मीद की थी। उन्होंने बताया, ‘मैंने सोचा था कि रिटायरमेंट (संन्यास) मेरी जीवन शैली को धीमा कर देगा, क्योंकि अब मुझे अपने दिन, सप्ताह या अगली सीरीज के लिए योजना बनाने की जरूरत नहीं है।’

मिताली राज ने बताया, ‘हालांकि, संन्यास के ऐलान के बाद मुझे कोविड-19 हो गया था। जब मैं उससे उबरी तो फिल्म के प्रचार कार्यक्रमों में व्यस्त हो गई।’ मिताली राज की बायोपिक शाबाश मिठू इस महीने की शुरुआत में भारत में सिनेमाघरों में रिलीज हुई है।

शेफाली पीढ़ियों में एक बार आने वाली खिलाड़ी: मिताली राज

मिताली राज (Mithali Raj) ने शेफाली वर्मा को पीढ़ियों में एक बार आने वाली खिलाड़ी करार दिया। उन्होंने कहा कि शेफाली में किसी भी विरोधी टीम के खिलाफ अकेले दम पर मैच जिताने की क्षमता है। मिताली 18 साल की शेफाली के शॉट में जिस तरह की ताकत होती है उससे हैरान हैं।

मिताली ने कहा, ‘मैं उसके खेल की बड़ी प्रशंसक हूं। मैंने देखा है कि वह ऐसी खिलाड़ी है जिसमें किसी भी आक्रमण या किसी भी टीम के खिलाफ भारत को अकेले दम पर जीत दिलाने की क्षमता है।’ शेफाली ने घरेलू क्रिकेट में खेलते हुए तुरंत ही मिताली पर छाप छोड़ी दी थी।

मिताली ने कहा, ‘मैंने शेफाली को भारतीय रेलवे के खिलाफ घरेलू मैच में खेलते हुए देखा था, उसने अर्धशतक जड़ा लेकिन मैं ऐसी खिलाड़ी की झलक देख सकती थी जो अपनी सिर्फ एक पारी से पूरे मैच को बदल सकती थी।’

उन्होंने कहा, ‘जब वह चैलेंजर ट्रॉफी के पहले सत्र में वेलोसिटी के लिए खेली तो वह मेरी टीम की ओर से खेली और मैंने देखा कि उसमें क्षमता और ताकत है जो आपको इस उम्र में बेहद कम देखने को मिलती है। बाउंड्री के बाहर शॉट मारने की क्षमता। अपनी मर्जी से छक्के मारने की क्षमता।’

 

About the author

suuny

Leave a Comment