MS Dhoni ने नहीं दिखाय तरस, गरीबी में ज़िन्दगी काटने को मजबूर हुआ CSK का पूर्व खिलाड़ी, 2 वक्त रोटी के लिए चला रहा बस

एक खिलाड़ी के तौर पर ऊंचाइयों को छूना कोई आसान बात नहीं है। साथ ही ऊंचे मुकाम पर पहुंच कर उसे बरकरार रखना उससे भी मुश्किल काम है। ऐसी ही कुछ मुश्किलें MS Dhoni के पुराने दोस्त और क्रिकेटर अपने जीवन में झेल रहे हैं।

धोनी के खिलाफ वर्ल्ड कप और साथ में आईपीएल में खेल चुका ये क्रिकेटर ऑस्‍ट्रेलिया में रहकर अब बस चला रहा है। हम बात कर रहे हैं श्रीलंका के पूर्व खिलाड़ी और स्पिनर सूरज रणदीव की।

सीएसके में धोनी के साथ खेले थे सूरज रणदीव

आईपीएल में धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने वाले सूरज रणदीव आज ऑस्ट्रेलिया में बस ड्राइवर बन गए हैं। सूरज रणदीव ने दिसंबर 2009 में श्रीलंका के लिए डेब्यू किया था और  उन्होंने 2016 तक श्रीलंका के लिए क्रिकेट खेला।

ऑफ स्पिनर ने केवल अपने देश के लिए 12 टेस्ट, 31 एकदिवसीय और 17 T20ई खेले, जिसमें क्रमशः 43, 36 और 7 विकेट उनके नाम दर्ज है। श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के अलावा रणदीव ने आईपीएल में भी अपनी जगह बनाई। वह 2012 में एमएस धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा था। उन्होंने आठ गेम खेले, जिसमें छह विकेट हासिल किए।

वीरेंद्र सहवाग के खिलाफ की थी बेईमानी

सूरज ने अपने कैरियर में एक ऐसी हरकत करी थी जिससे श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने सूरज रणदीव को एक मैच के लिए निलंबित कर दिया था, जबकि तिलकरत्ने दिलशान पर जुर्माना लगाया गया था। दिलशान के साथ मिलकर उन्होंने एक मैच में सहवाग के खिलाफ बेईमानी की थी।

उन्हें एक मैच में जानबूझकर नो बॉल फेकते पकड़ा गया था। सूरज रणदीव ने वीरेंद्र सहवाग का शतक पूरा न होने देने के लिए दिलशान के कहने पर नो बॉल फेंकी थी। सहवाग तब 99 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे, तब दिलशान ने रणदीव को जानबूझकर नो बॉल फेंकने की सलाह दी।

सहवाग ने नो बॉल पर छक्का लगा दिया था लेकिन नो बॉल होने के कारण अंपायरों ने भारत को विजयी घोषित कर दिया और उनका छक्का रनों में नहीं जोड़ा गया। ऐसे सहवाग अपने शतक से चूक गए।

श्रीलंका के स्पिनर सूरज रणदीव जीवन-यापन करने के लिए ऑस्ट्रेलिया में बस ड्राइवर का काम करते हैं। सूरज रणदीव के ड्राइवरी करने की तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल हुई थी।

About the author

suuny

Leave a Comment