न्यूजीलैंड को 6 गेंद पर 20 रन बनाने थे, सिर्फ एक विकेट था शेष, बल्लेबाज ने 24 रन बनाकर दिलाई रोमांचक जीत

माइकल ब्रेसवेल (Michael Bracewell) ने करियर की सबसे बेस्ट पारी खेली. उनके वनडे करियर के पहले शतक के दम पर न्यूजीलैंड ने पहले वनडे में आयरलैंड को रोमांचक अंदाज में एक विकेट से हराया. कीवी टीम को अंतिम ओवर में जीत के लिए 20 रन बनाने थे और सिर्फ एक विकेट हाथ में था. ब्रेसवेल ने अंतिम ओवर की पहली 5 गेंद पर 24 रन बनाकर टीम को जीत दिलाई. मेजबान आयरलैंड ने हेरी टेक्टर के शतक के दम पर पहले खेलते हुए 9 विकेट पर 300 रन का संघर्षपूर्ण स्कोर बनाया था. जवाब में न्यूजीलैंड ने 120 पर 5 विकेट गंवा दिए थे. लेकिन 7वें नंबर पर उतरे ब्रेसवेल ने जीत दिलाकर इतिहास रच दिया.

49 ओवर के बाद न्यूजीलैंड का स्कोर 9 विकेट पर 281 रन था. ऐसे में उसे अंतिम ओवर में जीत के लिए 20 रन बनाने थे और एक विकेट हाथ में था. 50वां ओवर तेज गेंदबाज क्रेग यंग डालने आए. ब्रेसवेल ने पहली गेंद पर शॉर्ट फाइन लेग पर चौका जड़ा. फिर दूसरी गेंद पर शॉर्ट फाइन लेग और स्क्वायर लेग के बीच में से चौका लगाया. तीसरी गेंद पर उन्होंने डीप मिडविकेट पर छक्का लगाकर न्यूजीलैंड की वापसी कराई.

3 गेंद पर बनाने थे 6 रन
पहली गेंद पर कीवी टीम ने 14 रन बना लिए थे. अब उसे अंतिम 3 गेंद पर 6 रन बनाने थे. चौथी गेंद पर माइकल ब्रेसवेल ने डीप स्क्वायर लेग पर चौका जड़ा. फिर 5वीं गेंद पर छक्का लगाकर टीम को रोमांचक जीत दिला दी. वे 82 गेंद पर 127 रन बनाकर नाबाद रहे. 10 चौका और 7 छक्का लगाया. नॉन स्ट्राइक एंड पर खड़े ब्लेयर टिकनर को एक भी गेंद खेलने का मौका नहीं मिला.

अंतिम ओवर में सबसे अधिक रन का रिकॉर्ड
वनडे क्रिकेट के इतिहास में पहली बार 50वें ओवर में 20 या उससे अधिक रन बनाकर किसी टीम ने मैच जीता. इससे पहले यह रिकॉर्ड 18 रन का था. इंग्लैंड ने 1987 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह कारनामा किया था. इससे पहले आयरलैंड के 22 साल के युवा बल्लेबाज हैरी टेक्टर ने वनडे करियर का पहला शतक जड़ा. उन्होंने 117 गेंद पर 113 रन बनाए. 14 चौका और 3 छक्का जड़ा.

About the author

suuny

Leave a Comment