8 घंटे में तीसरा दोहरा शतक जड़ा, 118 साल बाद हुआ कमाल ,इंग्लैंड की गर्मी में चेतेश्वर पुजारा का लॉर्ड्स में आया तूफान

इंग्लैंड इस समय भयंकर गर्मी से जूझ रहा है. इस गर्मी के बीच भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (cheteshwar pujara) ने बुधवार को लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर बल्ले से कोहराम मचा दिया. उन्होंने काउंटी चैंपियनशिप में मिडिलसेक्स के खिलाफ ससेक्स की तरफ से दोहरा शतक जड़ दिया. उन्होंने 8 घंटे में दोहरा जड़ा. पुजारा के बल्ले से इस सीजन तीसरी बार दोहरा शतक निकला है. मिडिलसेक्स के खिलाफ ससेक्स की कप्तानी करते हुए पुजारा ने 368 गेंदों पर 200 रन पूरे किए. इस दौरान उन्होंने 19 चौके और 2 छक्के लगाकर अपनी टीम की स्थिति मजबूत कर दी. पुजारा के रूप में ससेक्स को 523 रन पर आखिरी झटका लगा. वो 403 गेंदों पर 231 रन बनाकर आउट हुए.

118 साल बाद ससेक्स के बल्लेबाज ने किया कमाल

पुजारा 118 साल बाद एक ही काउंटी सीजन में 3 दोहरे शतक जमाने वाले ससेक्स के पहले खिलाड़ी बन गए हैं. वो पिछले कुछ मैचों से शानदार फॉर्म में चल रहे है. भारत और इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन टेस्ट में उन्होंने दूसरी पारी में अर्धशतक जड़ा था. मिडिलसेक्स के खिलाफ मुकाबले से पहले टॉम हैनेस के चोटिल होने के बाद पुजारा को ससेक्स का कप्तान बनाया गया था. हैनेस के हाथ में लीस्टरशर के खिलाफ पिछले मुकाबले में चोट लग गई थी, जिसके बाद उन्हें 5 से 6 हफ्ते आराम की सलाह दी गई. मिडिलसेक्स के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए ससेक्स ने 35 ओवर के भीतर ही 99 रन पर 2 विकेट गंवा दिए थे.

डर्बीशर और डरहम के खिलाफ जड़ा दोहरा शतक

इसके बाद पुजारा ने टॉम के साथ मिलकर 219 रन की शानदार साझेदारी की. भारतीय बल्लेबाज ने इससे पहले डर्बीशर और डरहम के खिलाफ दोहरा शतक जड़ा था. ससेक्स के लिए पुजारा का यह पहला काउंटी सीजन है और अपने डेब्यू सीजन में ही उन्होंने कोहराम मचा दिया. बतौर कप्तान ये उनका दोहरा शतक है. एजबेस्टन टेस्ट से पहले पुजारा काउंटी में मिडिलसेक्स के खिलाफ नाबाद 170 रन , डरहम के खिलाफ 203 रन, वूस्टरशर के खिलाफ 109, डर्बीशर के खिलाफ नाबाद 201 रन बनाए थे. मई में पुजारा ने मिडिलसेक्स के खिलाफ नाबाद 170 रन जड़कर भारतीय टेस्ट टीम में वापसी की थी. इससे पहले उन्हें श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज से बाहर कर दिया गया था.

About the author

suuny

Leave a Comment