टीम इंडिया ने नहीं दिया मौका, चेन्नई ने दिया धोखा, अब इंग्लैंड में पहुंचकर वनडे को बनाया टी-20, सिर्फ 53 गेंदों में ठोका शतक

भारत में इन दिनों कुछ खिलाड़ी घरेलू महाराजा टी-20 लीग खेल रहे हैं। वहीं कुछ टीम इंडिया के साथ है। भारत की एक टीम जिम्बाब्वे दौरे पर पहुंच चुकी है, क्योंकि उन्हें मेजबान टीम के साथ 18 अगस्त से तीन वनडे मैचों की श्रृंखला खेलनी है। उसके बाद दूसरी टीम यूएई में एशिया कप खेलने के लिए जाएगी।

भारत में बहुत सारे ऐसे खिलाड़ी है जो भारतीय टीम में जगह मिलने का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन फिर भी उन्हें इंडिया की तरफ से खेलने का मौका नहीं दिया जा रहा है। इन दिनों कुछ भारतीय खिलाड़ी इंग्लैंड में रॉयल लंदन वनडे कप खेल रहे हैं, जिसमे उनका प्रदर्शन बहुत बढ़िया देखने को मिला है।

इस खिलाड़ी ने वनडे को बनाया टी-20

इंग्लैंड में इन दिनों खेले जा रहे रॉयल लंदन वनडे कप का एक मैच वारविकशायर (Warwickshire) और ससेक्स (Sussex) के बीच खेला गया। उस मुकाबले में दोनों टीमों की तरफ से कई भारतीय क्रिकेटर खेल रहे थे, जिसमे से कुछ ने अपनी प्रदर्शन से सबका दिल जीता है। वारविकशायर और ससेक्स के बीच खेले गए मैच में चेतेश्वर पुजारा ने बल्ले से धमाल मचाया।

उस मैच में चेतेश्वर पुजारा वारविकशायर के लिए खेलते हुए चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए आए। उसके बाद उन्होंने 7 चौके और 2 गगनचुंबी छक्के की मदद से 107 रनों की अच्छी पारी खेली। उस इनिंग के दौरान पुजारा ने कुल 79 गेंदों का सामना किया था, लेकिन उन्होंने उनमे से अधिकतर गेंदे डॉट खेली थी। इस वजह से शतक जड़ने के लिए पुजारा ने मात्र 53 गेंदों का सहारा लिया।

पुजारा ने 53 गेंदों में पूरा किया शतक

चेतेश्वर पुजारा उस मुकाबले में 7 चौके और दो गगनचुंबी छक्के की मदद से सिर्फ 9 गेंदों में 40 रन बना दिए। उसके बाद उन्होंने 10 डबल, तीन ट्रिपल और 31 सिंगल दौड़कर पूरा किया। इस तरह पुजारा उस मैच में शतक तक पहुंचने के लिए मात्र 53 गेंदों का सामना किया था। इस वजह से पिछले कुछ दिनों से पुजारा लगातार चर्चा में बने हुए हैं, क्योंकि लोगों को लगता था कि पुजारा सिर्फ धीमी बल्लेबाजी कर सकते हैं, लेकिन अब उन्होंने साबित कर दिया है कि वो तेजी से बल्लेबाजी करना जानते हैं।

भारत ने नहीं दिया मौका और चेन्नई ने दिया धोखा

चेतेश्वर पुजारा भारत के लिए अभी भी टेस्ट क्रिकेट खेलते हैं, लेकिन वनडे क्रिकेट में उन्हें मौका नहीं मिलता है। भारत के लिए पुजारा सिर्फ 5 ओडीआई मैच खेल पाए हैं, उसके बाद उन्हें इस फॉर्मेट में खेलने का मौका मिलना पूरी तरह से बंद हो गया है। आईपीएल 2021 में चेतेश्वर पुजारा चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा थे, लेकिन उस दौरान सीएसके ने उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं दिया। उसके बाद आईपीएल 2022 से पहले उन्हें रिलीज कर दिया गया।

About the author

suuny

Leave a Comment