विराट कोहली ने जनवरी 2021 से टी20 इंटरनेशनल में 61.33 के औसत और 132 के स्ट्राइक रेट से ठोके रन, फिर क्यों हो रही बाहर करने की बात?

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली की फॉर्म को लेकर काफी चर्चा हो रही है। साल 2019 के अंत से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतक नहीं लगा पाने वाला बल्लेबाज आलोचकों के निशाने पर है। इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन टेस्ट में उनका प्रदर्शन काफी खराब रहा। उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में नहीं चुना गया। अब खबरें हैं कि उन्होंने टी-20 सीरीज से भी आराम मांगा है। इससे पहले खबर आई थी कि इंग्लैंड के खिलाफ दो टी-20 और वनडे सीरीज में प्रदर्शन के आधार पर उनका भविष्य तय होगा। हो सकता है उन्हें टी-20 वर्ल्ड कप में न चुना जाए।

हालांकि, टी-20 क्रिकेट में दाएं हाथ के इस बल्लेबाज के प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने जनवरी 2021 से 61.33 की औसत और 132 के स्ट्राइक रेट से रन बना रहे हैं। आईसीसी टी-20 रैकिंग में टॉप 10 बल्लेबाजों की बात करें तो पाकिस्तान के रिजवान अहमद का ही औसत बढ़िया है। बाकी का औसत उनसे काफी खराब है। बाबर आजम ने 38.65 की औसत से रन बनाए हैं और 128.51 का स्ट्राइक रेट रहा है। मोहम्मद रिजवान ने 71 की औसत और 134.63 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। एडेन मार्करम ने 43.84 की औसत और 148.82 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। इसके बाद भी उन्हें बाहर करने की बात क्यों हो रही है?

आईपीएल 2022 में प्रदर्शन – विराट कोहली पिछले पांच महीने से टी-20 इंटरनेशनल नहीं खेले हैं। उन्होंने फरवरी 2022 में आखिरी बार टी-20 इंटरनेशनल मैच खेला था। इस मैच में उन्होंने अर्धशतक जड़ा था। इसके बाद वह आईपीएल 2022 में खेले और प्रदर्शन काफी खराब रहा। वह इस सीजन में तीन बार डक पर आउट हुए और सिर्फ दो अर्धशतक लगा सके। इसके बाद वे साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज में नहीं खेले। इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन टेस्ट के कारण वह आयलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज भी नहीं खेले।

अन्य खिलाड़ियों का प्रदर्शन – विराट की अनुपस्थिति में जिन युवा खिलाड़ियों को मौका मिला उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया। दीपक हुड्डा, सूर्यकुमार यादव, श्रेयस अय्यर, इशान किशन ने इस दौरान बेहतरीन बल्लेबाजी की। हुड्डा ने नंबर तीन पर ऐसा प्रदर्शन किया है कि विराट को लेकर चर्चा तेज हो गई है। इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी-20 मैच में उन्होंने काफी आक्रामक बल्लेबाजी की। इससे पहले आयरलैंड के खिलाफ वह शतक भी जड़ चुके हैं।

नंबर – 3 पर बल्लेबाजी को लेकर बहस?- अगर विराट और हुड्डा प्लेइंग 11 में रहते हैं तो सूर्यकुमार यादव को बाहर बैठना पड़ सकता है। उनका प्रदर्शन भी अच्छा रहा है। अगर सूर्यकुमार बाहर होते हैं तो हो सकता है कि विराट को नीचे बल्लेबाजी करनी पड़े। इसके अलावा इशान को ड्रॉप करके उनसे ओपनिंग भी कराई जा सकती है। गौर करने वाली बात यह है कि इशान टीम इंडिया के एकमात्र बल्लेबाज हैं, जो रैकिंग में शीर्ष -10 में हैं। इसके अलावा केएल राहुल चोटिल हैं। उनकी वापसी के बाद क्या विराट या राहुल में से किसी एक को चुना जाएगा।

About the author

suuny

Leave a Comment