धोनी के कदमों पर चला, उनसे भी बड़ा रिकॉर्ड बनाया, IPL में नाम कमाकर टीम इंडिया में छाया ‘छोटा पैकेट, बड़ा धमाका’

भारतीय क्रिकेट में पिछले कुछ सालों में कई प्रतिभाशाली खिलाड़ियों ने अपनी पहचान बनाई है. जरिया चाहे रणजी ट्रॉफी हो, सैयद मुश्ताक अली और विजय हजारे ट्रॉफी में खेलकर हो या इंडियन प्रीमियर लीग. इन प्रमुख टूर्नामेंटों में धमाकेदार प्रदर्शन कर न सिर्फ इन खिलाड़ियों ने अपनी पहचान बनाई है, बल्कि टीम इंडिया (Team India) में भी एंट्री मारी है. इनमें से कुछ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी धाक जमाने लगे हैं. भारतीय टीम के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज इशान किशन (Ishan Kishan) ऐसे ही एक क्रिकेटर हैं, जिसने रणजी ट्रॉफी और IPL से अपनी शोहरत कमाई है और अब इंटरनेशनल क्रिकेट में भी जाना पहचाना नाम हैं. इन्हीं इशान किशन का आज जन्मदिन (Ishan Kishan Birthday) है.

इशान किशन का जन्म वैसे तो बिहार की राजधानी पटना में 18 जुलाई 1998 को हुआ था, लेकिन उन्होंने अपना क्रिकेट खेला उस राज्य से, जिसने भारत को सबसे सफल और करिश्माई कप्तान दिया. पूर्व भारतीय कप्तान और महान विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी के राज्य झारखंड की ओर से ही इशान ने अपने क्रिकेट की शुरुआत की और अब इसकी पहचान बन चुके हैं.

जो धोनी भी नहीं कर सके, वो किया

1990 के अंत और 2000 के शुरुआती दौर की पीढ़ी के भारतीय क्रिकेटरों के आदर्श के तौर पर धोनी का होना स्वाभाविक है. फिर अगर कोई झारखंड के लिए खेलते हुए बड़ा हो रहा है, तो ये और भी सामान्य हो जाता है. इशान किशन भी धोनी को ही अपना आदर्श मानते हैं और उनकी ही तरह विकेटकीपर-बल्लेबाज हैं. बड़े शॉट लगाने की काबिलियत भी कुछ वैसी ही है. हालांकि, झारखंड की ओर से खेलते हुए इशान ने कुछ ऐसा किया, जो उनके आदर्श धोनी भी नहीं कर सके. इशान ने 2016 के रणजी ट्रॉफी सीजन में दिल्ली के खिलाफ 273 रनों की पारी खेली थी, जो झारखंड क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर था.

U-19 से पहचान, IPL से कमाया नाम

वैसे इशान को पहली बड़ी पहचान 2016 के ही अंडर-19 विश्व कप से मिली थी. बांग्लादेश में हुए इस टूर्नामेंट में वह भारतीय टीम के कप्तान थे और टीम को फाइनल तक पहुंचाया था, जहां वेस्टइंडीज से हार मिली थी. हालांकि, खुद इशान ज्यादा असर नहीं डाल सके थे और सिर्फ 73 रन उनके बल्ले से निकले. इसके बावजूद 2016 में ही आईपीएल फ्रेंचाइजी गुजरात लायंस ने उन्हें 35 लाख की कीमत पर खरीदा था. फिर 2018 में करीब 5 करोड़ में मुंबई इंडियंस ने उन्हें खरीदा और तब से ही वह इस टीम का हिस्सा हैं.

मुंबई ने लगाई रिकॉर्ड बोली

मुंबई के लिए 2020 सीजन इशान का सबसे बेहतरीन सीजन था. तब इस युवा बल्लेबाज ने 14 मैचों में 57 की औसत और 145 के स्ट्राइक रेट से मुंबई के लिए सबसे ज्यादा 514 रन बनाए थे और टीम को लगातार दूसरी बार चैंपियन बनाने में मदद की थी. 2021 सीजन उम्मीदों के मुताबिक नहीं रहा, लेकिन फिर भी 2022 से पहले मेगा ऑक्शन में मुंबई ने उन्हें 15.25 करोड़ रुपये की सबसे ऊंची कीमत पर खरीद कर अपने साथ शामिल कर लिया. इस तरह वह इस नीलामी के सबसे महंगे खिलाड़ी बने.

टीम इंडिया में धमाकेदार एंट्री

वैसे 2020 सीजन के प्रदर्शन के दम पर इशान को 2021 में टीम इंडिया में एंट्री मिली. इंग्लैंड के खिलाफ मार्च में उन्हें टी20 डेब्यू का मौका मिला और पहले ही मैच में उन्होंने सिर्फ 32 गेंदों में ताबड़तोड़ 56 रन कूट दिए. फिर इसी तरह जुलाई 2021 में अपने वनडे डेब्यू में श्रीलंका के खिलाफ इशान ने सिर्फ 42 गेंदों में 59 रन जड़ दिए. इस प्रदर्शन के कारण उन्हें यूएई में हुए टी20 विश्व कप के लिए जगह मिली. हालांकि, टीम इंडिया की तरह इशान के लिए भी विश्व कप अच्छा नहीं रहा और सिर्फ न्यूजीलैंड के खिलाफ एक मैच खेलने का मौका मिला.

इशान किशन का अब तक का सफर

इशान अब नियमित तौर पर टी20 फॉर्मेट में टीम इंडिया का हिस्सा रहते हैं और कई बार प्लेइंग इलेवन में जगह भी बनाने में सफल रहते हैं. इशान ने टीम इंडिया के लिए 18 टी20 मैचों में 31 की औसत और 132 के स्ट्राइक रेट से 532 रन बनाए हैं, जिसमें 4 अर्धशतक शामिल हैं. वहीं 3 वनडे में एक अर्धशतक के साथ 88 रन बनाए हैं. अपने फर्स्ट क्लास करियर में इशान ने 46 मैच खेले हैं, जिसमें 38 की औसत से 2805 रन बनाए हैं. IPL रिकॉर्ड की बात करें, तो इशान ने अभी तक 75 मैच खेले हैं, जिसमें 132 के स्ट्राइक रेट से 1870 रन बनाए हैं.

About the author

suuny

Leave a Comment