बेन स्टोक्स ने जब एक ओवर में कूटे थे 6,6,6,6,6,4

एक साल पहले बेन स्टोक्स निराशा के भंवर में फंसे हुए थे। जिंदगी और क्रिकेट करियर दोनों दांव पर लग गया था। उन्होंने 2021 में भारत के खिलाफ होने वाली श्रृंखला के ठीक पहले क्रिकेट के सभी फॉरमेट से खुद को अलग कर लिया था। वे मानसिक रूप से असहज महसूस कर रहे थे। उन्होंने ब्रेक लिया। हालात से लड़े और खुद को संभाला। मानसिक रूप से खुद को मजबूत किया। फिर नये इरादों के साथ मंजिल की तरफ कदम बढ़ाये।

आज वे इंग्लैंड के स्टार कैप्टन हैं। टेस्ट कप्तान बनते ही उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-0 की विजय प्राप्त की। उनके खेल में अब पहले से अधिक निखार है। इस साल जब वे इंग्लैंड के कप्तान बने तो उनको काउंटी चैम्पियनशिप में डरहम की तरफ से वोरस्टरशायर के खिलाफ मैच खेलना था। टेस्ट कप्तान बनने की खुशी ने उनके इरादों को कितना मजबूत बना दिया था, वह उनकी इस पारी को देख कर समझा जा सकता है। मानसिक तनाव से लौटने के बाद इस पारी ने ही स्टोक्स को सुपरमैन बनाया था। फिर तो वे ऐसे छाये कि अब हर तरफ उनकी कप्तानी और खेल की तारीफ हो रही है।

बेन स्टोक्स ने जब एक ओवर में कूटे 34 रन

6 मई 2022 को डरहम का वोरस्टरशायर के खिलाफ दूसरे दिन का मैच चल रहा था। क्रीज पर डरहम के बल्लेबाज बेन स्टोक्स थे। वोरस्टरशायर के स्पिन गेंदबाज जोश बेकर स्टोक्स को बॉलिंग कर रहे थे। उस समय स्टोक्स 59 गेदों पर 70 रनों पर खेल रहे थे। अचानक स्टोक्स ने ऐसा रौद्र रूप धारण कर लिया कि देखने वाले हक्के बक्के रह गये। बेकर ने पहली गेंद की जिसको स्टोक्स ने स्ट्रेट लॉफ्टेड शॉट खेल कर छक्का मार दिया। फिर तो उन्होंने छक्कों की झड़ी लगा दी और इस ओवर में 34 रन कूट डाले। इस ओवर में उन्होंने 6,6,6,6,6,4 रनों की बदौलत 34 रन बनाये और 70 से 104 पर पहुंच गये। इस पारी में स्टोक्स ने आतिशी बल्लेबाजी का नजारा पेश किया और केवल 64 गेंदों में शतक पूरा किया। इसके बाद भी उनकी विस्फोटक बल्लेबाजी जारी रही। अगली 12 गेंदों पर फिर 5 छक्के लगाये। उन्होंने 88 गेंदों पर 161 रन बनाये जिसमें 17 छक्के और 8 चौके शामिल थे। काउंटी क्रिकेट की एक पारी में सर्वाधिक छक्कों का यह एक नया रिकॉर्ड था। स्टोक्स के पहले दिवंगत एंड्रू साइमंड्स ने एक पारी में 16 छक्के मारे थे। यानी जब स्वास्थ्य लाभ कर स्टोक्स मैदान पर लौटे तब उनके इरादे फौलाद की तरह मजबूत हो चुके थे। उनके क्रिकेट जीवन में एक नये जोश का संचार हुआ। अब कप्तान बेन स्टोक्स और हेड कोच ब्रेंडन मैकुलम इंग्लिश क्रिकेट की कामयाबी की नयी पटकथा लिख रहे हैं।

 

About the author

suuny

Leave a Comment