8 महीने में 6 कप्तानों के साथ काम करना होगा’ ‘सोचा नहीं था, सामने आया Rahul Dravid का बड़ा बयान कहा मात्र एक ही कप्तान मंजिल तक पहुंचा सकती..

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेली जा रही 5 मैचों की टी20 सीरीज 2-2 की बराबरी पर समाप्त हुई। सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला बैंगलुरू के मैदान पर खेला जाना था, लेकिन बारिश के चलते मैच पूरा न हो सका और इसीके साथ टीम इंडिया के लिए अपने घरेलू मैदानों पर अफ्रीकी टीम के खिलाफ टी20 सीरीज जीतने का सपना केवल सपना बनकर ही रह गया। सीरीज के खत्म होने के बाद हेड कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) का बड़ा बयान सामने आया है। द्रविड़ का ऐसा कहना है कि उन्होंने सोचा नहीं था कि पिछले 8 महीनों में उन्हें 6 कप्तानों के साथ करना होगा।

पिछले 8 महीनों में मिले 6 कप्तान

पिछले साल 2021 में यूएई में खेले गए टी20 वर्ल्ड कप के बाद राहुल द्रविड़ को भारत का हेड कोच बनाया गया था। इससे पहले उसी साल भारत की बी टीम के साथ वह श्रीलंका दौरे पर भी बतौर हेड कोच गए थे। अभी तक अपने कार्यकाल में द्रविड़ 6 अलग-अलग कप्तानों के साथ काम कर चुके हैं। श्रीलंका दौरे पर टीम की कमान शिखर धवन को सौंपी गई थी। इसके बाद द्रविड़ ने अजिंक्य रहाणे, विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल और ऋषभ पंत के साथ काम किया। अब आयरलैंड दौरे पर हार्दिक पांड्या भारतीय टीम की कमान संभालते हुए नजर आएंगे।

हमें कप्तान तैयार करने का मौका मिला

सा. अफ्रीका के खिलाफ पांचवां टी20 मैच शुरू होने से पहले राहुल द्रविड़ ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा, ”यह चुनौतीपूर्ण भी रहा है, हमने अंतिम 8 महीनों में 6 कप्तान उतारे, जो वास्तव में योजना नहीं थी। लेकिन हम जितने मैच खेल रहे हैं, यह उसकी वजह से हुआ है।” द्रविड़ ने माना कि ऐसा भी समय आता है जब परिस्थितियों को स्वीकार करना पड़ता है। उन्होंने आगे कहा, ”कोविड-19 के कारण मुझे कुछ लोगों के साथ काम करना पड़ा जो शानदार रहा। कई खिलाड़ियों को टीम की अगुआई का मौका मिला, हमें ग्रुप में और ‘कप्तान’ तैयार करने का मौका मिला।”

अफ्रीकी दौरा निराशाजनक रहा था

साल की शुरुआत में टीम इंडिया साउथ अफ्रीका के दौरे पर गई थी, जहां टीम इंडिया को 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 और 3 मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से मिली शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा था। भारतीय हेड कोच के मुताबिक, ”हम लगातार बेहतर करने की कोशिश करते हैं, हमने विभिन्न लोगों के साथ काफी कोशिश की। पिछले 8 महीनों में अफ्रीकी दौरा टेस्ट क्रिकेट के लिहाज से थोड़ा निराशाजनक रहा था।”

युवा तेज गेंदबाजों से प्रभावित हुए द्रविड़

आईपीएल के 15वें सीजन के बाद टीम इंडिया को एक से बढ़कर एक तेज गेंदबाज मिले। इस पर राहुल ने कहा, ”हमारा लिमिटेड ओवर क्रिकेट अच्छा है, इससे टीम का जज्बा झलकता है। आईपीएल के दौरान तेज गेंदबाजी का टैलेंट देखना शानदार था, खासतौर पर कुछ गेंदबाज काफी रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे थे।” उन्होंने आगे कहा, ”काफी युवाओं को अपना कौशल दिखाने का मौका मिला और काफी ने अच्छा किया जो भारतीय क्रिकेट के लिए काफी अच्छा संकेत है।”

बता दें कि आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करने वाले युवा तेज गेंदबाज उमरान मलिक, अर्शदीप सिंह और आवेश खान को साउथ अफ्रीका सीरीज में मौका दिया गया था। आवेश ने 5 मैचों में 4 विकेट लिए, जबकि उमरान और अर्शदीप को अभी भी डेब्यू का इंतजार है।

 

About the author

suuny

Leave a Comment